Library Hours
Monday to Friday: 9 a.m. to 9 p.m.
Saturday: 9 a.m. to 5 p.m.
Sunday: 1 p.m. to 9 p.m.
Naper Blvd. 1 p.m. to 5 p.m.
     
Limit search to available items
Record 3 of 4
Results Page:  Previous Next
Author Wkrishind (व्कृषिंद)

Title kuchh nae adhyaay (कुछ नए अध्याय) [OverDrive electronic resource] : Un dinon ke: jhilamilaatee galiyaan (उन दिनों के: झिलमिलाती गलियाँ, #1). Wkrishind (व्कृषिंद).

Imprint Oklahoma City : Wkrishind, 2020.
QR Code
Description 1 online resource
Series झिलमिलाती गलियाँ.
Note Title from eBook information screen..
Summary नए युग के नए विचार इंसान को कुछ नए एहसास दिलाते हैं। इस कलयुग में अगर किसी चीज़ की कमी है तो वह है, भरोसा। समझ में ही नहीं आता की कौन सही है और कौन ग़लत है। ग़लत निगाह से देखो तो हर कोई ग़लत दिखता है और वहीं दूसरी तरफ़ सही निगाह से देखो तो हर कोई सही लगता है। अब सबसे बड़ी बात तो यह है कि कैसे पहचाने कौन सही है और कौन ग़लत है। इसी होड़ में इंसान कभी किसी से बहस करता है तो कभी किसी पर आँख मूँद कर भरोसा करता है।
System Details Requires OverDrive Read (file size: N/A KB) or Adobe Digital Editions (file size: 1049 KB) or Kobo app or compatible Kobo device (file size: N/A KB).
Subject Fiction.
Humor (Fiction).
Romance.
Suspense.
Hindi language materials.
Genre Electronic books.
Hindi language materials.
ISBN 9781393666363 (electronic bk)
Patron reviews: add a review
Click for more information
EBOOK
No one has rated this material

You can...
Also...
- Find similar reads
- Add a review
- Sign-up for Newsletter
- Suggest a purchase
- Can't find what you want?
More Information